रक्षाबंधन 2023: इस बार रक्षाबंधन में भद्रा के योग 30 को मनाए या 31 को? जाने सही समय

रक्षा बंधन 2023 तिथि:- इस बार रक्षा बंधन बनाने के लिए दो दिनों का झमेला अड़ा हुआ है अब ये कहना मुश्किल है कि रक्षा बंधन किस दिन बने तो आइए जानते हैं

रक्षा बंधन 2023 तिथि

मित्र राष्ट्र हिंदू धर्म में बहुत ही खास त्योहार माना जाता है। हर साल इस त्यौहार को बड़ी ही खुसियो और जोश के साथ मनाया जाता है। इसमें बहन अपने भाई की और कलाई में राखी (कलावा) बांधते हुए अपनी लंबी उम्र की जिंदगी की खुसियो की प्रार्थना करती है | यहां भाई का भाई अपनी मातृभूमि की सदैव रक्षा करता है और अपने हर सुख दुख में साथ देता है और पितृ पक्ष को कुछ न कुछ उपहार देता है। हिन्दू मास के अनुसार हर वर्ष श्रावण शुक्ल पक्ष में पूर्णिमा का दिन मनाया जाता है। अब बात करते हैं पिछली बार की तरह इस बार भी इस त्योहार को दो दिन मनाया जाएगा कुछ लोग इसे 30 अगस्त को और कुछ लोग इसे 31 अगस्त को मनाएंगे। हमारे बड़ो वजो पूर्व के अनुसार यहां तक ​​हमारे ज्योतिषी के अनुषाहार रक्षाबंधन पर भद्रा काल मनाया जाता है तो अब ही जानिए कि किस समय रक्षाबंधन की तैयारी की जाती है और राखी बांधने का शुभ संकेत क्या बताया जाता है।

रक्षाबंधन 2023 भद्रा काल का प्रभाब रहेगा:-

शास्त्रों के आधार पर रक्षाबंधन के त्योहार श्रावण माह की पूर्णिमा को सुबह के समय मनाना अच्छा होता है, लेकिन इस दिन भद्रा काल का साया नहीं होना चाहिए तो ये गलत होगा। अगर रक्षाबंधन के दिन भद्रा का साया रहे तो भाई की कलाई में राखी नहीं बांधना चाहिए।

हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल 30 अगस्त को पूर्णिमा तिथि के साथ भद्राकाल शुरू होगा और इस रात 09 बजे से 05 मिनट तक रहेगा। विधान के अनुसार भद्राकाल में आयोजित होने वाले रक्षाबंधन पर्व को नहीं मनाया जाना चाहिए। राखी को हमेशा भद्रा काल खत्म होने के बाद ही बांधना शुभ होता है। वहीं राखी को बांधते समय अगर दो का समय हो तो यह समय सबसे शुभ होता है। लेकिन इस साल रक्षाबंधन के त्योहार श्रावण मास की पूर्णिमा 30 अगस्त को है और पूरे दिन भद्राकाल रहेगा। इसलिए 30 अगस्त को रक्षा बंधन नहीं बनेगा। 30 अगस्त को भद्रा रात्रि 09 गणतंत्र 05 मिनट तक होगा तो आप इस समय के बाद राखी बांध सकते हैं लेकिन हमारे वेदों का हिसाब-किताब रात में मेरा राखी बांध नहीं सकता है।

पंचांग के अनुसार 31 अगस्त को पूर्णिमा की तारीख 07 से 05 मिनट तक रहेगी और इस दौरान भद्राकाल नहीं रहेगा। इसलिए 31 अगस्त को सुबह राखी बांधना मंगल होगा।

रक्षाबंधन शुभ उत्सव 2023

* पूर्णिमा तिथि: 30 अगस्त 2023 * राखी बांधने का समय: 30 अगस्त, रात 09 बजे, 03 मिनट से 31 अगस्त, सुबह 07 बजे, 05 मिनट तक * भद्रा काल समाप्ति का समय: 30 अगस्त, रात 09 बजे, 05 मिनट पर|

 

लोकतंत्र 2023: क्या करें और क्या न करें

रक्षाबंधन का त्योहार हमेशा भद्राराहत काल में माना जाता है। संस्था के बाद सूर्य को जल दे| देवी देवताओं का ध्यान करें। इसके बाद शुभ उत्सव में राखी की थाली तैयार करें। थाली के टुकड़े या पीतल की हो और उसमें, सिन्दूर, मिठाई और रोली की जगह। अपने देवता को रक्षा सूत्र समर्पित करें और पूजा करें। राखी बांधने के लिए भाई का मुंह पूर्व दिशा में रखें। सबसे पहले भाई के आभूषण पर तिलक आभूषण और फिर हाथी के हाथ पर राखी धारक| इसके बाद बहन-भाई एक और मिठाई खिलाएं।

रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त 2023 रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त 2023 रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त 2023

2 thought on “Raksha Bandhan 2023 Date रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त 2023”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *